Health and Numerology: मूलांक से जानें किस बीमारी से परेशान रह सकते हैं आप, जानिए क्या कहता है अंक शास्त्र

अंक ज्योतिष शास्त्र की मदद से किसी भी जातक के व्यक्तित्व के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है। अंक शास्त्र में मूलांक के जरिए व्यक्ति अपने भविष्य, स्वास्थ्य, करियर, आर्थिक स्थिति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा आप मूलांक के जरिए यह भी जान सकते हैं कि आपको कौन सा रोग परेशान कर सकता है और किन महीनों में आपको अपनी सेहत का अधिक ध्यान रखना चाहिए।  जिससे कि आप पहले से सतर्कता बरतकर किसी गंभीर बीमारी से बच सकें और सेहतमंद बने रह सकते हैं। ऐसे में आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि मूलांक के हिसाब से आपको किस बीमारी का खतरा हो सकता है और किन महीनों में आपको अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखने की जरूरत है।इसे भी पढ़ें: Yogini Ekadashi 2024: दो दुर्लभ संयोग में किया जा रहा योगिनी एकादशी का व्रत, ऐसे करें श्रीहरि का पूजनमूलांक 1अंक शास्त्र के मुताबिक जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 1, 10, 19 या 28 तारीख को होता है। उनका मूलांक 1 होता है। इन जातको को केसर, लौंग, जायफल, पत्थरचूर, संतरा, किशमिश, बेबूने के फूल, नींबू, खजूर, अदरक, सौंठ, जौ की रोटी और जौ के पानी का विशेष तौर पर सेवन करना चाहिए। वहीं मूलांक 1 वाले जातकों को अक्तूबर, दिसंबर और जनवरी में अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए।मूलांक 2जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 2, 11, 20 या 29 तारीख को होता है। उनका मूलांक 2 होता है। इन जातकों को पेट संबंधी बीमारिया परेशान कर सकती हैं। इसके अलावा मूलांक 2 वाले जातकों को नेत्र व‍िकार और फोड़े-फुंसी की समस्याएं भी हो सकती हैं। इन जातकों को खीरा, ककड़ी, तरबूज, सलाद, गोभी, चिकोरी या कासनी, करम का साग और केले का सेवन करना चाहिए। इन जातकों को जनवरी, फरवरी और जुलाई आदि महीनों में अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।मूलांक 3अंक शास्त्र के अनुसार, जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 3, 12, 21 या 30 तारीख को होता है। उनका मूलांक 3 होता है। इन जातकों को स्‍नायु-तंत्र संबंधी समस्या परेशान कर सकती है। इसके अलावा मूलांक 3 वाले जातकों को शियाटिका दर्द, त्वचा संबंधी रोग और तंत्रिकाओं में सूजन संबंधी समस्या हो सकती है। इन जातकों को पत्थरचूर, विलबैरी, शतावर, चुकंदर, चेरी, स्ट्राबेरी, सेव, शहतूत, नाशपाती, जैतून और अनार का सेवन करना चाह‍िए। इन जातकों को फरवरी, जून, सितंबर और दिसंबर महीने में अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।मूलांक 4जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 4, 13, 22 या 31 तारीख को होता है, उनका मूलांक 4 होता है। ऐसे जातकों को गंभीर रोग होने का अधिक खतरा बना रहता है। इन जातकों को रक्त की कमी, सिर, कमर, मानसिक अस्वस्थता, मूत्रस्थान और गुर्दो में पीड़ा संबंधी समस्‍या होने का अधिक खतरा होता है। मूलांक 4 वाले जातकों को सर्दियों की हरी सब्जियां, लोकाट, आईलैंडमास और सोलोमन सील आदि चीजों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए। जनवरी, फरवरी, जुलाई, अगस्त और सितंबर महीने में इन मूलांक के जातकों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए।मूलांक 5जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 5, 14 या 23 को होता है, उनका मूलांक 5 होता है। इन जातकों को टेंशन अधिक रहती है। बता दें कि मूलांक 5 वाले जातकों को चेहरे, आंखे और हाथों के टेढ़े-मेढ़े होने का भय बना रहता है। इसके अलावा यह लोग अनिद्रा व अधरंग जैसी बीमारी का शिकार हो सकते हैं। इसलिए इन जातकों को सोना, आराम और शांत रहने के लिए मेडिटेशन का सहारा लेना चाहिए। जून, सितंबर और दिसंबर के महीनों में मूलांक 5 वाले जातकों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए। मूलांक 6अंकशास्‍त्र के अनुसार ज‍िन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 6, 15 और 24 तारीख को होता है, उनका मूलांक 6 होता है। इन जातकों को मई, अक्टूबर और नवंबर में अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए। मूलांक 6 वाले जातकों को पालक, मज्जा, तरबूज, अनार, सेब, फलियां, चुकंदर, नाशपाती, खुबानी, अंजीर, अखरोट और बादाम का सेवन करना चाह‍िए।मूलांक 7मूलांक 7 वाले जातकों बहुत जल्दी किसी भी बात की टेंशन में आ जाते हैं। इन लोगों पर आसपास के वातावरण का गहरा होता है। मूलांक 7 वाले जातकों को उदर संबंधी समस्या लगी रहती है। इसके अलावा इनको हाजमे और फोड़े-फुंसियों की समस्या लगी रहती है। ऐसे में इन समस्याओं से बचने के लिए मूलांक 7 वाले जातकों को चिंकोरी, खीरा, ककड़ी, सलाद, गोभी, अलसी, खुंबी, सेव, अंगूर और सभी फलों के रस का सेवन करना चाहिए। जनवरी, फरवरी, जुलाई और अगस्त के महीने में इन जातकों को अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।. मूलांक 8जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 8, 17 या 26 तारीख को होता है। उनका मूलांक 8 होता है। मूलांक 8 वाले जातकों को पित्ताशय, आंतों, जिगर और मलोत्सर्जन संबंधित समस्याओं का खतरा होता है। इसके अलावा इन जातकों को सिरदर्द, रक्तरोग, वाहनों से जहरबाद तथा गठिया आदि रोग का भी खतरा बना रहता है। मूलांक 8 वाले जातकों को अधिक से अधिक फल-सब्जियों और जड़ी-बूटियों का उपयोग करना चाहिए। वहीं दिसंबर, जनवरी, फरवरी और जुलाई में मूलांक 8 वाले जातकों को अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।मूलांक 9अंकशास्त्र के मुताबिक जिन लोगों का जन्म किसी भी महीने की 9, 18 या 27 को होता है, उनका मूलांक 9 होता है। इन जातकों को खसरा, माता, चिकनपॉक्स, बुखार और चकत्ते आदि रोग होने का भय रहता है। इन लोगों को अधिक तले-भुने भोजन और मदिरा सेवन से बचना चाहिए। इसके अलावा मूलांक 9 वाले जातकों को मूली, अदरक, मिर्च, प्याज, लहसुन, रेवन्दचीनी, तोरी और मजीठ का सेवन करना चाहिए। अप्रैल, मई, अक्टूबर और नवंबर के महीने में इन जातकों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए।

Jul 5, 2024 - 16:16
 0
Health and Numerology: मूलांक से जानें किस बीमारी से परेशान रह सकते हैं आप, जानिए क्या कहता है अंक शास्त्र
अंक ज्योतिष शास्त्र की मदद से किसी भी जातक के व्यक्तित्व के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है। अंक शास्त्र में मूलांक के जरिए व्यक्ति अपने भविष्य, स्वास्थ्य, करियर, आर्थिक स्थिति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा आप मूलांक के जरिए यह भी जान सकते हैं कि आपको कौन सा रोग परेशान कर सकता है और किन महीनों में आपको अपनी सेहत का अधिक ध्यान रखना चाहिए।
 
जिससे कि आप पहले से सतर्कता बरतकर किसी गंभीर बीमारी से बच सकें और सेहतमंद बने रह सकते हैं। ऐसे में आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि मूलांक के हिसाब से आपको किस बीमारी का खतरा हो सकता है और किन महीनों में आपको अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखने की जरूरत है।

इसे भी पढ़ें: Yogini Ekadashi 2024: दो दुर्लभ संयोग में किया जा रहा योगिनी एकादशी का व्रत, ऐसे करें श्रीहरि का पूजन


मूलांक 1
अंक शास्त्र के मुताबिक जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 1, 10, 19 या 28 तारीख को होता है। उनका मूलांक 1 होता है। इन जातको को केसर, लौंग, जायफल, पत्थरचूर, संतरा, किशमिश, बेबूने के फूल, नींबू, खजूर, अदरक, सौंठ, जौ की रोटी और जौ के पानी का विशेष तौर पर सेवन करना चाहिए। वहीं मूलांक 1 वाले जातकों को अक्तूबर, दिसंबर और जनवरी में अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए।

मूलांक 2
जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 2, 11, 20 या 29 तारीख को होता है। उनका मूलांक 2 होता है। इन जातकों को पेट संबंधी बीमारिया परेशान कर सकती हैं। इसके अलावा मूलांक 2 वाले जातकों को नेत्र व‍िकार और फोड़े-फुंसी की समस्याएं भी हो सकती हैं। इन जातकों को खीरा, ककड़ी, तरबूज, सलाद, गोभी, चिकोरी या कासनी, करम का साग और केले का सेवन करना चाहिए। इन जातकों को जनवरी, फरवरी और जुलाई आदि महीनों में अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।

मूलांक 3
अंक शास्त्र के अनुसार, जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 3, 12, 21 या 30 तारीख को होता है। उनका मूलांक 3 होता है। इन जातकों को स्‍नायु-तंत्र संबंधी समस्या परेशान कर सकती है। इसके अलावा मूलांक 3 वाले जातकों को शियाटिका दर्द, त्वचा संबंधी रोग और तंत्रिकाओं में सूजन संबंधी समस्या हो सकती है। इन जातकों को पत्थरचूर, विलबैरी, शतावर, चुकंदर, चेरी, स्ट्राबेरी, सेव, शहतूत, नाशपाती, जैतून और अनार का सेवन करना चाह‍िए। इन जातकों को फरवरी, जून, सितंबर और दिसंबर महीने में अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।

मूलांक 4
जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 4, 13, 22 या 31 तारीख को होता है, उनका मूलांक 4 होता है। ऐसे जातकों को गंभीर रोग होने का अधिक खतरा बना रहता है। इन जातकों को रक्त की कमी, सिर, कमर, मानसिक अस्वस्थता, मूत्रस्थान और गुर्दो में पीड़ा संबंधी समस्‍या होने का अधिक खतरा होता है। मूलांक 4 वाले जातकों को सर्दियों की हरी सब्जियां, लोकाट, आईलैंडमास और सोलोमन सील आदि चीजों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए। जनवरी, फरवरी, जुलाई, अगस्त और सितंबर महीने में इन मूलांक के जातकों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए।

मूलांक 5
जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 5, 14 या 23 को होता है, उनका मूलांक 5 होता है। इन जातकों को टेंशन अधिक रहती है। बता दें कि मूलांक 5 वाले जातकों को चेहरे, आंखे और हाथों के टेढ़े-मेढ़े होने का भय बना रहता है। इसके अलावा यह लोग अनिद्रा व अधरंग जैसी बीमारी का शिकार हो सकते हैं। इसलिए इन जातकों को सोना, आराम और शांत रहने के लिए मेडिटेशन का सहारा लेना चाहिए। जून, सितंबर और दिसंबर के महीनों में मूलांक 5 वाले जातकों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए। 

मूलांक 6
अंकशास्‍त्र के अनुसार ज‍िन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 6, 15 और 24 तारीख को होता है, उनका मूलांक 6 होता है। इन जातकों को मई, अक्टूबर और नवंबर में अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए। मूलांक 6 वाले जातकों को पालक, मज्जा, तरबूज, अनार, सेब, फलियां, चुकंदर, नाशपाती, खुबानी, अंजीर, अखरोट और बादाम का सेवन करना चाह‍िए।

मूलांक 7
मूलांक 7 वाले जातकों बहुत जल्दी किसी भी बात की टेंशन में आ जाते हैं। इन लोगों पर आसपास के वातावरण का गहरा होता है। मूलांक 7 वाले जातकों को उदर संबंधी समस्या लगी रहती है। इसके अलावा इनको हाजमे और फोड़े-फुंसियों की समस्या लगी रहती है। ऐसे में इन समस्याओं से बचने के लिए मूलांक 7 वाले जातकों को चिंकोरी, खीरा, ककड़ी, सलाद, गोभी, अलसी, खुंबी, सेव, अंगूर और सभी फलों के रस का सेवन करना चाहिए। जनवरी, फरवरी, जुलाई और अगस्त के महीने में इन जातकों को अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।
मूलांक 8
जिन जातकों का जन्म किसी भी महीने की 8, 17 या 26 तारीख को होता है। उनका मूलांक 8 होता है। मूलांक 8 वाले जातकों को पित्ताशय, आंतों, जिगर और मलोत्सर्जन संबंधित समस्याओं का खतरा होता है। इसके अलावा इन जातकों को सिरदर्द, रक्तरोग, वाहनों से जहरबाद तथा गठिया आदि रोग का भी खतरा बना रहता है। मूलांक 8 वाले जातकों को अधिक से अधिक फल-सब्जियों और जड़ी-बूटियों का उपयोग करना चाहिए। वहीं दिसंबर, जनवरी, फरवरी और जुलाई में मूलांक 8 वाले जातकों को अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए।

मूलांक 9
अंकशास्त्र के मुताबिक जिन लोगों का जन्म किसी भी महीने की 9, 18 या 27 को होता है, उनका मूलांक 9 होता है। इन जातकों को खसरा, माता, चिकनपॉक्स, बुखार और चकत्ते आदि रोग होने का भय रहता है। इन लोगों को अधिक तले-भुने भोजन और मदिरा सेवन से बचना चाहिए। इसके अलावा मूलांक 9 वाले जातकों को मूली, अदरक, मिर्च, प्याज, लहसुन, रेवन्दचीनी, तोरी और मजीठ का सेवन करना चाहिए। अप्रैल, मई, अक्टूबर और नवंबर के महीने में इन जातकों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए।